मास कम्युनिकेशन में एडमिशन, कोर्स फीस, करियर, रोजगार और सैलरी की पूरी जानकारी – Career Guidance

मास कम्युनिकेशन कोर्स, फीस, करियर, नौकरी और सैलरी, की पूरी जानकारी – दोस्तों आज हम आप सब को इस समय की सबसे चर्चित कोर्स के बारे बतायेंगे। जो सबको अपनी तरफ आकर्षित कर रहा हैं, ऐसे कितने सारे स्टूडेंटस हैं जो किसी और क्षेत्र के स्टूडेंट होते हुए पत्रकारिता की तरफ अपनी रुख मोड़ते दिख रहे हैं। आपको बतायेंगे की मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)मास कम्युनिकेशन कोर्स फीस (mass communication course fees in hindi)पत्रकारिता में करियर? (Career in journalism in hindi), पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार (employment in the field of journalism in hindi) पत्रकारिता में सरकारी नौकरी? 

मास कम्युनिकेशन क्या है? (what is mass communication in hindi)

अगर छात्र 12वीं के बाद मास कम्युनिकेशन कोर्स करने के बारे में सोच रहे हैं, तो उनके लिए यह कोर्स बेस्ट है। यह कोर्स काफी मजेदार हैं। जिसको पढ़ने में मज़ा आयेगा। इस कोर्स के माध्यम से आप यह सीखते हैं, कि कैसे एक ही समय में दुनिया की किसी भी चीज से संबंधित जानकारी, पूरी दुनिया में संचार किया जाता है। इन खबरों को अखबारों, किताबों, पत्रिकाओं, वेबसाइटों, ब्लॉगों, रेडियो, फिल्म और टेलीविजन का उपयोग कर संचार किया जाता है। यह क्षेत्र काफी तेजी से आगे बढ़ रहा हैं और इसके साथ ही इस क्षेत्र में तेजी से करियर बदलने लगा हैं।

मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)

मास कम्युनिकेशन (mass communication) को हिंदी में जनसंचार कहते है। जनसंचार शब्द से ‘संस्कृति, बुद्धि तथा विवेक के भाव बोध होते हैं। जिसका अभिप्रायः समुदाय से हैं। इसकी प्रकृति विषम होती हैं। इसका क्षेत्र, समूह, भीड़, तथा समुदाय से बडा होता हैं। जन का अर्थ हैं ”जनता” यानि ”मास” (Mass) तथा संचार शब्द संस्कृत भाषा के ‘चर’ धातु से बना हैं।जिसका अर्थ हैं ‘चलना’। संचार का शाब्दिक अर्थ हैं ”साझेदारी में चलना”। ‘संचार तथा माध्यम’ ‘जन’ से जुड़कर ”जनसंचार” (Mass Communication) और ‘जन-माध्यम’ (Mass-Media) शब्द बने हैं। ‘मास कम्युनिकेशन’ और ‘मास मीडिया’ दोनों के रूप में प्रचलित ”जनसंचार” और ”जनमाध्यम” हैं।

पत्रकारिता कोर्स हिंदी में (Mass Communication Course in Hindi)

मास कम्युनिकेशन (mass communication) कोर्स में भी आप बैचलर डिग्री ले सकते हैं। मास कम्युनिकेशन में करियर बनाने के लिए 12वीं पास होना जरूरी है। 12वीं के बाद आप चाहें तो डिप्लोमा सर्टिफिकेट या डिग्री कोर्स कर सकते हैं। ग्रेजुएशन के बाद पीजी डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन, डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन कर सकते हैं।

पत्रकारिता के प्रमुख कोर्सेज: –

  • MJMC ( Master of Journalism and Mass Communication)
  • BJMC (Bachelor of Journalism and Mass Communication)
  • PGDJMC (Post Graduate Diploma in Journalism and Mass Communication)
  • Diploma in Journalism
  • PG Diploma in Broadcast Journalism
  • PG Diploma in Mass Media
  • MA (Journalism and Mass Communication) Degree

मास कम्युनिकेशन के लिए शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification for Mass Communication in Hindi)

  • मास कम्युनिकेशन के लिए शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification for Mass Communication)मास कम्युनिकेशन कोर्स में 12वीं पास होना जरूरी है।  
  • कुछ कॉलेजों में कक्षा 12 वीं में आये अंकों के आधार पर छात्रों को  प्रवेश मिलता हैं।  
  • मास कम्युनिकेशन कोर्स  विज्ञान/ कॉमर्स/ आर्ट्स कोई भी कर सकता है।
  • कुछ कॉलेजों में प्रवेश लेने के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) करवाई जाती हैं।

मास कम्युनिकेशन प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी (Preparation for Mass Communication Entrance Examination)

  • सामान्य ज्ञान की जानकारी होनी चाहिए। इसमें कही से भी प्रश्न आता हैं।
  • सबसे कॉन्ट्रोवर्सी राजनितिक विषय।
  • राजनितिक पार्टियों का ज्ञान होना।
  • फिल्म का ज्ञान होना।
  • पत्रकारिता का ज्ञान होना।
  • रेडियो, टेलीविजन का ज्ञान होना।
मास कम्युनिकेशन गवर्मेंट कालेजों (Best Government Mass Communication Colleges in India)
  • Indian Institute of Mass Communication (IIMC) New Delhi, Delhi,
  • Film and Television Institute of India (FTII) Pune, Maharashtra,
  • Indraprastha College for Women (IP College) New Delhi, Delhi,
  • A.J.K Mass Communication Research Centre, Jamia Milia Islamia Universit New Delhi,
  • Department of Journalism and Mass Communication, BHU Varanasi, Uttar Pradesh,
  • Department of Communication and Journalism, Pune Pune, Maharashtra,
  • Institute of Mass Communication, Film and Television Studies (IMCFTS) Kolkata, West Bengal,
  • Institute of Mass Communication and Media Technology, Kurukshetra University Kurukshetra, Haryana,
  • Xavier’s Institute of Mass Communication (XIMC),
  • Symbiosis Institute of Mass Communication (SIMC),
  • Department of Journalism and Mass Communication, Patna College, Patna,
  • Department of Journalism and Mass Communication, Patna Women’s College, Patna,
  • Makhanlal Chaturvedi National University,
  • Asian College of Journalism (ACJ),
  • Babasaheb Bhimrao Ambedkar Central University Lucknow,
  • Shri Ramswaroop Memorial University Lucknow,
  • Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University, Lucknow,
  • Central University of Allahabad
मास कम्युनिकेशन कोर्स के महत्वपूर्ण फील्ड (Important Fields of Mass Communication Course)
  1. पत्रकारिता कोर्स हिंदी में (Mass Communication Course in Hindi)प्रिंट पत्रकारिता – यह पत्रकारिता का सबसे पहला और पुराना फिल्ड हैं जो भारत में अभी भी सबसे लोकप्रिय पत्रकारिता हैं। भारत देश के हर भाषा में अख़बार और मैग्जीन छपता हैं। प्रिंट पत्रकारिता में काम कर सकते हैं।
  2. इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता – इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता ने दुनिया को अक्षरों  की दुनिया से निकालकर विजुअल (दृश्य) की दुनिया में ले कर आया। ऑडियो, वीडियो, टीवी, रेडियो के माध्यम से यह दूर-दराज के क्षेत्र में भी लोकप्रिय होने लगा। अभी के समय में टेलीविजन पत्रकारिता का यह सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बन चुका है।
  3. वेब पत्रकारिता – यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म हैं जहाँ पर हर पल की खबर को लिख कर या वीडियो बना कर वेबसाइट पर डाल दिया जाता हैं। प्रिंट मिडिया में यानि अख़बार, मैग्जीन में छपे हुए खबर को पाठक पढ़ कर अपनी फीडबैक नहीं दे सकता हैं। वही चीज इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता में श्रोता प्रवक्ता को सिर्फ सुन सकता हैं  फीडबैक को प्रवक्ता के पास उसी समय नही पहुचा सकता हैं या कोई भी सवाल नहीं कर सकता हैं। लेकिन वेब पत्रकारिता में आप उसी समय अपना फीडबैक और सवाल कर सकते हैं। अभी के समय में वेब पत्रकारिता सबसे आगे हैं।
  4. पब्लिक रिलेशन – यह क्षेत्र पत्रकारिता से थोड़ा हटकर है, जर्नलिज्म की पढ़ाई के दैरान पब्लिक रिलेशन को भी पढ़ाया जाता हैं। किसी व्यक्ति, संस्थान की छवि को लोगों की नजर में सकारात्मक रुप से प्रस्तुत करना पब्लिक रिलेशन में आता है। पब्लिक रिलेशन का कोर्स करने के बाद बिजनेस हाउसेज, पॉलिटिकल पर्सन, सेलेब्रेटी और संस्थानों के लिए काम किया जाता है।
  5. विज्ञापन – पत्रकारिता में ही विज्ञापन को पढाया जाता हैं। पेपर, मैग्जीन, पोस्टर, पैम्पलेट, पर विज्ञापन किया जाता हैं। इस फिल्ड में भी करियर बना सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े – कैमरा क्या है? (What is Camera in Hindi) – जानिए हिंदी में।

जर्नलिस्ट में कुछ जरुरी गुण होने चाहिए-

  • मानसिक रूप से मजबूत होना यानी किसी भी परिस्थिति में खुद पर विश्वास करके काम पर ध्यान देना।
  • बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स होना।
  • समाचारों से खुद को अपडेट रखना जर्नलिज्म का सबसे बड़ा नियम है।
  • खबरों को लेकर निष्पक्ष होना।
  • समय बद्ध होना।

नौकरी के अवसर: –

न्यूज एजेंसी, न्यूज वेबसाइट, प्रोडक्शन हाउस, प्राइवेट और सरकारी न्यूज चैनल, प्रसार भारती, पब्लिकेशन डिजाइन, फिल्म मेकिंग में रोजगार के अवसर मिलते हैं।

इन्हें भी देखे –

मास कम्युनिकेशन में एडमिशन, कोर्स फीस, करियर, रोजगार और सैलरी की पूरी जानकारी – Career Guidance
5 (100%) 11 votes

12 Comments

  1. Akash Tiwary 29/06/2018
  2. Sneha Mishra 30/06/2018
  3. Dilip deora 20/09/2018
  4. dilip 20/09/2018
  5. Thanesh Kumar Shahu 23/09/2018
  6. Vivek jha 23/09/2018
  7. Zahid Zaddy 23/09/2018
  8. Lelita 23/09/2018
  9. Lata kumari 23/09/2018
  10. satayam ray 14/02/2019
  11. kumar nitish 16/02/2019
  12. samita 22/02/2019
error: DMCA Protected !!