मास कम्युनिकेशन में एडमिशन, कोर्स फीस, करियर, रोजगार और सैलरी की पूरी जानकारी।

पत्रकारिता में करियर? (Career in Journalism in Hindi)

मास कम्युनिकेशन कोर्स, फीस, करियर, नौकरी और सैलरी, की पूरी जानकारी – दोस्तों, आज हम आप सब को इस समय की सबसे चर्चित कोर्स के बारे बतायेंगे। जो सबको अपनी तरफ आकर्षित कर रहा हैं, ऐसे कितने सारे स्टूडेंटस हैं जो किसी और क्षेत्र के स्टूडेंट होते हुए भी पत्रकारिता की तरफ अपनी रुख मोड़ते दिख रहे हैं। आपको बतायेंगे की मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)मास कम्युनिकेशन कोर्स फीस (Mass Communication Course Fees in Hindi)पत्रकारिता में करियर? (Career in Journalism in Hindi), पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार (Employment in the Field of Journalism in Hindi) पत्रकारिता में सरकारी नौकरी?

mass communication kya hai in hindi


मास कम्युनिकेशन क्या है?” इंटरनेट के बढ़ते प्रभाव को आधुनिक समय में देखा जा सकता है। चाहे ई-गवर्नेंस (E-Governance) हो या ई-कॉमर्स (Ecommerce), ई-शॉपिंग (E-Shopping), ई-बिलिंग (E-Billing), ई-पोस्ट (E-Post), ई-एजुकेशन (E-Education), ई-मेडिकल (E-Medical) या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing), इंटरनेट (Internet) ने सभी के लिए इसे सरल और सुगम बना दिया है।

सोशल नेटवर्किंग साइट्स (Social Networking Sites) व ब्लागिंग (Blogging) ने इण्टरनेट (Internet) की व्यापकता में काफी वद्धि की है। इलेक्ट्रॉनिक (Electronic) और सैटेलाइट संचार (Satellite Communication) ने नयी मीडिया में न्यूजपेपर्स (Newspapers), मैगजीन (Magazine) और पीरियॉडिकल (Periodical), न्यूज एजेंसियों (News agencies), टीवी (Televison), रेडियो (Radio), इण्टरनेशनल पेपर्स (International Papers) और नेटवर्क्स के रीजनल प्रेस ब्यूरो (Regional Press Bureau of Networks), इण्टरनेट पोर्टल्स (Internet Portals), सूचना और प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) से सम्बद्ध सरकारी एजेंसियों में जॉब के अवसर उपलब्ध हैं।


मास कम्युनिकेशन क्या है?” सरकारी एजेंसियों में जैसे डायरेक्टरेट ऑफ एडवरटाइजिंग एंड विजुअल पब्लिसिटी (Directorate of Advertising and Visual Publicity) (DAVP), डायरेक्टरेट ऑफ फील्ड पब्लिसिटी (Directorate of Field Publicity), पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक एंड प्राइवेट सेक्टर कॉरपोरेशन (Public Relations Department of Public and Private Sector Corporation), फ्रीलांसर और स्ट्रिगर (Freelancer and Stringer), थिएटर एवं फिल्म क्रिटिक (Theater and Film Critics), बुक रिव्युअर (Book Reviewer) आदि क्षेत्रों में जॉब के अवसर उपलब्ध हैं।

इण्टरनेट विकास के सक्षम औजार के साथ ‘ग्लोबल विलेज‘ (Global Village) का आधार बना हुआ है। डिजिटल क्रान्ति (Digital Revolution) ने संस्कृति (Culture), सत्ता (Power) और बाजार (Market) को नये सिरे से परिभाषित किया है। डिजिटल उपकरणों ने निर्जीव पदार्थों को भी नये सिरे से परिभाषित करना प्रारम्भ कर दिया है। आज कम्प्यूटर (Computer), मोबाईल (Mobile) और लैपटॉप (Laptop) जैसे डिजिटल उपकरण (Digital Devices) हमारे व्यक्तित्व के अंग बन गए हैं।

मास कम्युनिकेशन क्या है?” अगर छात्र 12वीं के बाद मास कम्युनिकेशन कोर्स (Mass Communication Course) करने के बारे में सोच रहे हैं, तो उनके लिए यह कोर्स बेस्ट है। यह कोर्स काफी मजेदार हैं। जिसको पढ़ने में मज़ा आयेगा। इस कोर्स के माध्यम से आप यह सीखते हैं, कि कैसे एक ही समय में दुनिया की किसी भी चीज से संबंधित जानकारी, पूरी दुनिया में संचार किया जाता है। इन खबरों को अखबारों (Newspapers), किताबों (Books), पत्रिकाओं (Magazines), वेबसाइटों (Websites), ब्लॉगों (Blogs), रेडियो (Radio), फिल्म (film) और टेलीविजन (Television) का उपयोग कर संचार किया जाता है। यह क्षेत्र काफी तेजी से आगे बढ़ रहा हैं और इसके साथ ही इस क्षेत्र में तेजी से करियर बदलने लगा हैं।

मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)

मास कम्युनिकेशन (Mass Communication) को हिंदी में जनसंचार कहते है। जनसंचार शब्द से ‘संस्कृति (Culture), बुद्धि (Wisdom) तथा विवेक के भाव‘ बोध होते हैं। जिसका अभिप्रायः समुदाय से हैं। इसकी प्रकृति विषम होती हैं। इसका क्षेत्र, समूह, भीड़, तथा समुदाय से बडा होता हैं। जन का अर्थ हैं ”जनता” यानि ”मास” (Mass) तथा संचार शब्द संस्कृत भाषा के ‘चर‘ धातु से बना हैं। जिसका अर्थ हैं ‘चलना‘। संचार का शाब्दिक अर्थ हैं ”साझेदारी में चलना”। ‘संचार तथा माध्यम‘ ‘जन’ से जुड़कर ”जनसंचार” (Mass Communication) और ‘जन-माध्यम‘ (Mass-Media) शब्द बने हैं। ‘मास कम्युनिकेशन (Mass Communication)’ और ‘मास मीडिया (Mass Media)’ दोनों के रूप में प्रचलित ”जनसंचार” और ”जनमाध्यम” हैं।

पत्रकारिता कोर्स हिंदी में (Mass Communication Course in Hindi)

मास कम्युनिकेशन (Mass Communication) कोर्स में भी आप बैचलर डिग्री (Bachelor’s Degree) ले सकते हैं। मास कम्युनिकेशन में करियर (Career in Journalism in Hindi) बनाने के लिए 12वीं पास होना जरूरी है। 12वीं के बाद आप चाहें तो डिप्लोमा सर्टिफिकेट (Diploma Certificate) या डिग्री कोर्स (Degree Course) कर सकते हैं। ग्रेजुएशन (Graduation) के बाद पीजी डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन (PG Diploma in Mass Communication), डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन (Diploma in Public Relation) कर सकते हैं।

पत्रकारिता के प्रमुख कोर्सेज :-

  • MJMC ( Master of Journalism and Mass Communication)
  • BJMC (Bachelor of Journalism and Mass Communication)
  • PGDJMC (Post Graduate Diploma in Journalism and Mass Communication)
  • Diploma in Journalism
  • PG Diploma in Broadcast Journalism
  • PG Diploma in Mass Media
  • MA (Journalism and Mass Communication) Degree

मास कम्युनिकेशन के लिए शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification for Mass Communication in Hindi)

  • मास कम्युनिकेशन के लिए शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification for Mass Communication)मास कम्युनिकेशन कोर्स में 12वीं पास होना जरूरी है।
  • कुछ कॉलेजों में कक्षा 12 वीं में आये अंकों के आधार पर छात्रों को  प्रवेश मिलता हैं।
  • मास कम्युनिकेशन कोर्स  विज्ञान/ कॉमर्स/ आर्ट्स कोई भी कर सकता है।
  • कुछ कॉलेजों में प्रवेश लेने के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) करवाई जाती हैं।

मास कम्युनिकेशन प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी (Preparation for Mass Communication Entrance Examination in Hindi)

  • सामान्य ज्ञान की जानकारी होनी चाहिए। इसमें कही से भी प्रश्न आता हैं।
  • सबसे कॉन्ट्रोवर्सी राजनितिक विषय।
  • राजनितिक पार्टियों का ज्ञान होना।
  • फिल्म का ज्ञान होना।
  • पत्रकारिता का ज्ञान होना।
  • रेडियो, टेलीविजन का ज्ञान होना।

मास कम्युनिकेशन गवर्मेंट कालेजों (Best Government Mass Communication Colleges in India)

  • Indian Institute of Mass Communication (IIMC) New Delhi, Delhi
  • Film and Television Institute of India (FTII) Pune, Maharashtra
  • Indraprastha College for Women (IP College) New Delhi, Delhi
  • A.J.K Mass Communication Research Centre, Jamia Milia Islamia Universit New Delhi
  • Department of Journalism and Mass Communication, BHU Varanasi, Uttar Pradesh
  • Department of Communication and Journalism, Pune Pune, Maharashtra
  • Institute of Mass Communication, Film and Television Studies (IMCFTS) Kolkata, West Bengal
  • Institute of Mass Communication and Media Technology, Kurukshetra University Kurukshetra, Haryana
  • Xavier’s Institute of Mass Communication (XIMC)
  • Symbiosis Institute of Mass Communication (SIMC)
  • Department of Journalism and Mass Communication, Patna College, Patna
  • Department of Journalism and Mass Communication, Patna Women’s College, Patna
  • Makhanlal Chaturvedi National University
  • Asian College of Journalism (ACJ)
  • Babasaheb Bhimrao Ambedkar Central University Lucknow
  • Shri Ramswaroop Memorial University Lucknow
  • Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University, Lucknow
  • Central University of Allahabad

मास कम्युनिकेशन कोर्स के महत्वपूर्ण फील्ड (Important Fields of Mass Communication Course in Hindi)

  1. कन्टेण्ट राइटर (Content Writer) – कन्टेण्ट लिखने वाले की व्यापक जरूरत प्रिण्ट और लिए कन्टेण्ट तैयार करने वाले की मांग भी काफी बढ़ गयी है। कन्टेण्ट राइटर का काम सिर्फ लेख लिखने तक सीमित नहीं होता, बल्कि उसे काफी शोध कार्य भी करना होता है। इसके लिए करेन्ट अफेयर्स की समझ और लगातार अपडेट रहना जरूरी है। इसमें आप लेख लिख सकते है। फीचर लेखन लिख सकते है।
  2. प्रिंट पत्रकारिता (Print Journalism)प्रिंट पत्रकारिता का सबसे पहला और पुराना फिल्ड हैं जो भारत में अभी भी सबसे लोकप्रिय पत्रकारिता हैं। भारत देश के हर भाषा में अख़बार और मैग्जीन छपता हैं। प्रिंट पत्रकारिता में काम कर सकते हैं।
  3. इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता (Electronic Journalism) – इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता ने दुनिया को अक्षरों  की दुनिया से निकालकर विजुअल (दृश्य) की दुनिया में ले कर आया। ऑडियो, वीडियो, टीवी, रेडियो के माध्यम से यह दूर-दराज के क्षेत्र में भी लोकप्रिय होने लगा। अभी के समय में टेलीविजन पत्रकारिता का यह सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बन चुका है।
  4. पब्लिक रिलेशन्स (Public relations) – बदलते परिदृश्य में विभिन्न संगठनों की सफलता के लिए पब्लिक रिलेशन्स यानी जनसम्पर्क आवश्यक है। न केवल सरकारी (Governmental), सहकारी (Cooperative), निजी (Private), राजनीतिक (Political), शैक्षिक (Educational), धार्मिक (Religious) संस्थाओं के लिए बल्कि व्यक्ति विशेष के प्रचार-प्रसार के लिए भी जनसंपर्क (Public Relations) महत्त्वपूर्ण विधा बन कर उभरा है। जनसंपर्क अधिकारी (Public Relations Officer) की नौकरी रुचिकर भी होती है। उन्हें न सिर्फ अपनी संस्था या व्यक्ति की मार्केट में इमेज बनानी होती है। बल्कि संस्था की उन्नति, गतिविधियों की जानकारी न्यूज पेपर, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, मैगजीन और सम्बन्धित कॉरपोरेट ब्रॉशर आदि द्वारा लोगों तक भी पहुँचानी होती है।
  5. विज्ञापन (Advertising) – पत्रकारिता में ही विज्ञापन को पढाया जाता हैं। पेपर (Paper), मैगजीन (Magazine), पोस्टर (Poster), पम्पलेट (Pamphlet) पर विज्ञापन (Advertisement) किया जाता हैं। इस फिल्ड में भी करियर बना सकते हैं।
  6. स्क्रीन प्ले राइटिंग (Screen Play Writing) -स्क्रीन प्ले राइटिंग को दस्तावेज लिखने से जोडा जा सकता है। यह लेखन मुख्यत: फिल्म और टेलीविजन सीरियलों के लिए किया जाता है। डायरेक्टर (Director), कास्ट (Cast), एडिटर (Editor), और प्रोडक्शन टीम (Production Team), स्क्रिप्ट (Script) या स्क्रीन प्ले (Screen Play) के इर्द-गिर्द ही अपना काम करते हैं। इसलिए यह ऐसा काम है। जिससे नयापन और मनोरंजन देने का लक्ष्य भी पूरा हो सके।
  7. फिल्म मेकिंग, सिनेमेटोग्राफी और एडिटिंग (Film Making, Cinematography and Editing)फिल्म मेकिंग (Film Making), सिनेमेटोग्राफी (Cinematography), एडिटिंग (Editing) में कैरियर बनाने की व्यापक सम्भावनाएँ हैं। इस सिलसिले में जो कोर्स चलाये जा रहे हैं। उनका मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों में फिल्म मेकिंग (Film Making) की स्किल्स (Skills) विकसित करना होता है। सिनेमेटोग्राफी के लिए कम्पोजीशन (Composition), लाइट (Light) और कैमरों (Cameras) के मूवमेन्ट के हिसाब से कन्टैंट (Content) कैसा होना चाहिए। इस बारे में अच्छी जानकारी जरूरी है। इसके अलावा लोकेशन (Location) को किस ढंग से शूट करना है। ताकि उसकी खूबसूरती परदे पर नजर आये। यह समझ भी होनी चाहिए। कैमरों के प्रकार और उसकी हैंडलिंग की समझ, सिनेमेटोग्राफी की नयी तकनीक के बारे में भी विस्तार से जानकारी होनी चाहिए। एक फिल्म को खूबसूरती से परदे पर दिखाने की पूरी जिम्मेवारी इसके एडिटर के कंधों पर होती है। इसलिए उन्हें तकनीक की बारीक समझ होनी जरूरी है।
  8. फोटो पत्रकारिता (Photo Journalist) – प्रिण्ट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के विस्तार के चलते कुशल व प्रोफेशनल फोटोग्राफर्स की बेहद मांग है। फोटोग्राफर सामान्य खबरों के साथ-साथ विशेष घटना, फिर चाहे वह प्राकृतिक आपदा हो या युद्ध या फिर ग्लैमर का क्षण वे उस स्थल पर जाकर पूरी कहानी को अपने कैमरे में खूबसूरती से कैद करते हैं और लाखों-करोड़ों लोगों को बोलती तस्वीर दिखाते हैं।
  9. रेडियो जॉकी (Radio Jockey) – रेडियो जॉकी की पहचान इनकी आवाज और बोलने के तरीके से होती है। अच्छे रेडियो जॉकी अकसर सिलेब्रिटि के रूप में पहचाने जाते हैं। खासकर एफएम चैनलों के तेजी से हुए विस्तार के कारण यह कैरियर काफी ग्लैमरस माना जाता है। भविष्य में एफएम चैनलों का काफी विस्तार होने वाला है।
  10. वॉइस-ओवरआर्टिस्ट (Voice-Over Artist-voice) – वॉइस-ओवर आर्टिस्ट विजुअल (Visual) पिक्चर में जान डालने का काम करते हैं। कई बार तो बड़े-बड़े सिलेब्रिटीज़ (Celebrities) के लिए फिल्मों में आवाज देने का काम भी ये वॉइस-ओवर आर्टिस्ट ही करते हैं। इसे ऑफ-स्क्रीन कमेन्ट्री के रूप में भी समझा जा सकता है। रेडियो पर महत्वपूर्ण संदेश आदि देने के लिए वॉइस-ओवर आर्टिस्ट का खासा उपयोग किया जाता है। वॉइस-ओवर आर्टिस्ट बनने के लिए अपनी भाषा पर अच्छी पकड़ के साथ ही ज्यादा से ज्यादा भाषा का सही ज्ञान, साफ आवाज, वॉइस की पिच और सही टोन का ज्ञान होना आवश्यक है।
  11. मीडिया प्लानिंग (Media Planning) – यह मास कम्युनिकेशन (Mass Communication) के क्षेत्र में तेजी से उभरता हुआ नया कैरियर है। आज प्रिण्ट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अलावा विज्ञापन (Advertising) भी संचार के सशक्त माध्यम बन गये हैं। मीडिया प्लानिंग (Media Planning) के अन्तर्गत क्लाइण्ट किस मीडिया कम्पनी को अपना विज्ञापन दे, इसका चुनाव करना होता है। इसके लिए क्लाइण्ट का बजट और टारगेट ऑडियंस (Target Audience) आदि के बारे में समझ कर उसके आधार पर ही काम करना होता है। कुल मिला कर मीडिया प्लानर (Media Planning), मीडिया ऑर्गेनाइजेशन (Media Organization) और क्लाइण्ट (Client) के बीच एक सेतु के रूप में काम करते हैं।
  12. वेब पत्रकारिता (Web Journalism) – जिस प्रकार अखबारों (newspapers), पत्रिकाओं (Magazine) में खबरें देने के लिए पत्रकार (Journalist), लेखक (Author) और सम्पादक (Editor) होते हैं, उसी तरह इंटरनेट (Internet) आधारित न्यूज पोर्टल (News Portal) के लिए भी पत्रकारों की जरूरत होती है। आज हर व्यक्ति जल्द से जल्द खबरें चाहता है खासकर युवाओं के लिए इंटरनेट आधारित न्यूज फीड (News Feed) पसन्द बनते जा रहे हैं। यह वेब पत्रकारिता का ही कमाल है कि आप दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर किसी भी भाषा में किसी भी देश का अखबार या वहाँ की ताजा खबरें पढ़ सकते हैं। यहाँ कार्य में भी तेजी की जरूरत होती है। खबर लिखकर उसका सम्पादन ही नहीं, बल्कि लगातार उसे अपडेट भी करना पड़ता है।

ये भी पढ़े – फोटोग्राफी में करियर कैसे बनाये? (Career in Photography in Hindi)

जर्नलिस्ट में कुछ जरुरी गुण होने चाहिए-

  • मानसिक रूप से मजबूत होना यानी किसी भी परिस्थिति में खुद पर विश्वास करके काम पर ध्यान देना।
  • बेहतरीन संचार कौशल (Communication Skills) होना।
  • समाचारों से खुद को अपडेट रखना जर्नलिज्म का सबसे बड़ा नियम है।
  • खबरों को लेकर निष्पक्ष होना।
  • समय बद्ध (Time-Bound) होना।

नौकरी के अवसर:-

न्यूज एजेंसी (News agency), न्यूज वेबसाइट (News Website), प्रोडक्शन हाउस (Production House), Graphic Designer में  प्राइवेट और सरकारी न्यूज चैनल (Private and Government News Channel), प्रसार भारती (Prasar Bharati), पब्लिकेशन डिजाइन (Publication Design), फिल्म मेकिंग (Film Making) में रोजगार के अवसर मिलते हैं।


इन्हें भी देखें –


निष्कर्ष (Conclusion)

मुझे उम्मीद है कि “मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)” और “पत्रकारिता में करियर? (Career in Journalism in Hindi)” इससे संबंधित प्रश्नों का उत्तर अवश्य मिल गया होगा। आज के समय का सबसे चर्चित करियर ऑप्शन बनते जा रहा है। “मास कम्युनिकेशन क्या है?” पिछले दो दशकों में, नए मीडिया ने कैरियर के संदर्भ में एक नई और बेहतर पहचान बनाई है। यही कारण है कि यह क्षेत्र युवाओं के बीच तेजी से लोकप्रिय भी होता जा रहा है। हालांकि इस क्षेत्र में कॉलेजों की तेजी से बढी संख्या ने प्लेसमेन्ट (Placements) को लेकर कुछ चिन्ता पैदा की है। फिर भी इस क्षेत्र में कई ऐसे कैरियर विकल्प हैं। जिनमें सम्भावनाओं की उम्मीद अभी बाकी है। अगर आपको “मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi)” पर पोस्ट पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे। अगर इस पोस्ट में आपको समझने में कोई समस्या आ रही हो या कोई सवाल हो तो कमेन्ट जरुर करे। हमारी टीम आपको जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Career in Journalism and Mass Communication
Author Rating
51star1star1star1star1star

47 Comments

  1. Akash Tiwary जून 29, 2018
  2. Sneha Mishra जून 30, 2018
  3. Dilip deora सितम्बर 20, 2018
  4. dilip सितम्बर 20, 2018
  5. Thanesh Kumar Shahu सितम्बर 23, 2018
  6. Vivek jha सितम्बर 23, 2018
  7. Zahid Zaddy सितम्बर 23, 2018
  8. Lolita सितम्बर 23, 2018
  9. Lata kumari सितम्बर 23, 2018
  10. satayam ray फ़रवरी 14, 2019
    • Karuna Tiwari जून 26, 2019
  11. kumar nitish फ़रवरी 16, 2019
  12. samita फ़रवरी 22, 2019
    • Karuna Tiwari जून 27, 2019
  13. Archana Pal मई 29, 2019
    • Karuna Tiwari जून 4, 2019
  14. neeraj मई 31, 2019
    • Karuna Tiwari जून 4, 2019
  15. Priya Raj जून 26, 2019
    • Karuna Tiwari जून 26, 2019
  16. Jyoti kumari जुलाई 4, 2019
    • Karuna Tiwari जुलाई 8, 2019
  17. Shailesh जुलाई 9, 2019
  18. aftab khan जुलाई 21, 2019
  19. aftab khan जुलाई 21, 2019
  20. Akash Pawar जुलाई 23, 2019
    • Karuna Tiwari जुलाई 29, 2019
  21. Nidhi kushwaha अगस्त 13, 2019
    • Karuna Tiwari अगस्त 14, 2019
  22. Abhishek Singh अगस्त 19, 2019
    • Karuna Tiwari नवम्बर 8, 2019
  23. Abhishek Rajput सितम्बर 11, 2019
  24. Mahesh kumar srivastava अक्टूबर 31, 2019
    • Karuna Tiwari नवम्बर 2, 2019
  25. Sandeep Chalana नवम्बर 10, 2019
    • Karuna Tiwari नवम्बर 10, 2019
error: DMCA PROTECTED !! We have saved your IP address and location !!