SSC क्या है? (SSC Kya Hai) – फुल जानकारी हिंदी में।

SSC क्या है? (SSC Kya Hota Hai)

विषय-सूची

आज हम आपको इस पोस्ट में “SSC क्या है? (SSC Kya Hai)” के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

“SSC क्या है? (SSC Kya Hai in Hindi)” इसके बारे में आप सभी को जानना बेहद जरूरी है।

अगर आप ‘SSC की तैयारी करना चाहते है‘ या ‘SSC की तैयारी कैसे करें?

इसके बारे में जानना है, तो ‘SSC क्या है?‘, ‘SSC की तैयारी कैसे करें?’ की पूरी जानकारी इस पोस्ट में दी गई है।

SSC क्या है? (SSC Kya Hai)
इस पोस्ट में जानेंगे की “SSC क्या होता है? (SSC Kya Hai)” SSC की स्थापना सन 1977 में हुई थी। SSC का मतलब Staff Selection Commission होता है।

SSC के बारे में एक अफवाह

मेरे प्रिये पाठको, मेरे बातों पर गौर करिएगा। इन्टरनेट पर ऐसे कई सारे वेबसाइट ने आर्टिकल्स लिखा है की, “SSC क्या है?” इसके बारे में छोटे शहरों के छात्रों को कुछ नहीं पता होता है।

जहाँ तक मैं जानती हूँ। “SSC” के ज्यादातर छात्र छोटे शहरों के ही होते है।

मैं ये बात यहाँ इस लिए जिक्र कर रही हु, क्योंकि हर कोई छोटे शहरों के छात्रों को हिन् भावना से देखता है।

कई बार तो टोंट भी दिया जाता है। हिंदी मीडियम और अंग्रेजी मीडियम के बिच तुलना करते है!

आपकी जानकारी के लिए बता दे की “SSC” निकालने वाले सबसे ज्यादा छात्र छोटे शहरों के होते है।

वो भी हिंदी मीडियम के छात्र होते है। मैं उन छात्रो को यही कहूँगी की आप उनकी बातों से डिमोटिवेट नहीं हो और ना ही उनकी बातों पर गौर करे।

“SSC क्या है? (What is SSC in Hindi)” SSC में हर कोई एक सरकारी नौकरी पाना चाहता है।

उसके लिए लोग कड़ी मेंहनत कर रहे है। बहुत बार तो छात्र निराश हो जाते है।

एक शोध के अनुसार – कोई भी नौकरी पाने में लोग खुद को तभी असफल होते पाते है।

जब उनको तैयारी करने की सही और सटीक तरीका मालूम नहीं होती है।

आपने तो सुना ही होगा की, जिंदगी में सफलता पाने के लिए एक अच्छे मार्गदर्शक और एक बेहद तेज गुरु की जरूरत होती है।

मार्गदर्शक और गुरु आप खुद खोजने की जिम्मेदारी लीजिये। मैं जिम्मेदारी लेती हु की आपको इस पोस्ट में सही जानकारी दू।

इस पोस्ट में जानेंगे की “SSC क्या है? (SSC Kya Hai)“, “SSC-CGL का फुल फॉर्म क्या है? (SSC Full Form Kya Hai)“, “SSC का इतिहास“, “SSC की तैयारी कैसे करें” आदि।

SSC-CGL का फुल फॉर्म क्या है? (SSC Full Form Kya Hai)

हर कोई सरकारी नौकरी की तैयारी में लगा हुआ है। SSC के बारे में या SSC के एग्जाम में या SSC के इंटरव्यू में हमेशा एक सवाल पूछा ही जाता है।

“SSC का फुल फॉर्म क्या है?”, “CGL का फुल फॉर्म क्या है?” ज्यादातर लोग इसके जवाब नहीं दे पाते है।

“एसएससी का फुल-फॉर्म इंग्लिश में (Full-Form of SSC in English)”, “Staff Selection Commission” होता है।

“एसएससी का फुल-फॉर्म हिंदी में (Full-Form of SSC in Hindi)”, “कर्मचारी चयन आयोग” होता है।

CGL का फुल फॉर्म इंग्लिश में “Combined Graduate Level” होता है।

‘CGL का का फुल-फॉर्म हिंदी में (Full-Form of CGL in Hindi)’ हिंदी में “संयुक्त स्नातक स्तर” होता है।

SSC का इतिहास (History of SSC in Hindi)

  • 4 नवंबर 1975 को भारत सरकार (GOI) ने एक आयोग का गठन किया।
  • जिसे अधीनस्थ सेवा आयोग (Subordinate Service Commission) कहा जाता था।
  • 26 सितंबर 1977 को अधीनस्थ सेवा आयोग का नाम बदलकर कर्मचारी चयन आयोग कर दिया गया।
  • जिसे SSC के नाम से जाना जाता है।
  • SSC का मुख्यालय भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है।

SSC के पोस्ट का लिस्ट (Different Posts Offered by SSC in Hindi)

SSC के पोस्ट का लिस्ट (Different Posts Offered by SSC in Hindi)
SSC के पोस्ट का लिस्ट (Different Posts Offered by SSC in Hindi)

आपको भारत सरकार के तहत विभिन्न विभागों में विभिन्न रिक्तियों (Vacancies) में कर्मचारी चयन आयोग द्वारा भर्ती किया जाएगा। यह आप पर निर्भर करता है कि आपको कौन सी पोस्ट चाहिए और आप उस पोस्ट के लिए कितनी मेहनत करते हैं।

  1. Assistant Audit Officer (AAO)
  2. Income Tax Inspector (ITI)
  3. Inspector (Examiner)
  4. Assistant
  5. Central Excise Inspector
  6. Preventive Officer Inspector
  7. Assistant Enforcement Officer (AEO)
  8. Assistant Section Officer (ASO)
  9. Inspector of Posts/ Postal Inspector
  10. Junior Statistical Officer (JSO)/ Statistical Investigator
  11. Divisional Accountant
  12. Auditor
  13. Accountant/ Junior Accountant
  14. Tax Assistant
  15. Senior Secretariat Assistant
  16. Compiler (Registrar General of India)
  17. Data Entry Operator (DEO)
  18. Lower Division Clerk (LDC)/ Junior Secretariat Assistant (JSA)
  19. Postal Assistants/Sorting Assistants (PA/SA)
  20. Court Clerk
  21. Constable
  22. Sub Inspector
  23. Inspector
  24. Junior Engineer (Civil)
  25. Junior Engineer (Electrical)
  26. Junior Engineer (Mechanical)
  27. Junior Engineer (Quality Surveying & Contracts)
  28. Junior Engineer (Naval Quantity Assurance)– (Mechanical)
  29. Junior Engineer (Naval Quantity Assurance)– (Electrical)
  30. Stenographer
  31. Junior Hindi Translator
  32. Senior Hindi Translator

किस विभाग के लिए एसएससी भर्ती करता है? (Departments of SSC in Hindi)

भारत सरकार के अंतर्गत विभिन्न तरफ के मंत्रालय, संगठन और विभाग आते हैं। जैसा कि मैंने पहले भी उल्लेख किया है, एसएससी भारत सरकार के तहत विभिन्न विभागों में रिक्त पदों को भरने के लिए काम करता है। SSC परीक्षा पास करने के बाद, आप निम्नलिखित विभागों / संगठनों में से किसी के लिए काम कर सकते हैं।

  • Comptroller and Auditor General (CAG)
  • Controller General of Accounts (CGA)
  • Controller General of Defence Accounts (CGDA)
  • Central Board of Indirect Taxes and Customs (CBIC)
  • Central Board of Direct Taxes (CBDT) – Income Tax Department
  • Central Vigilance Commission (CVC)
  • Registrar General of India
  • Armed Forces Headquarters (AFHQ)
  • Intelligence Bureau (IB)
  • Central Bureau of Investigation (CBI)
  • Central Bureau of Narcotics (CBN)
  • National Investigation Agency (NIA)
  • Central Secretariat Service (CSS)
  • Central Secretariat Official Language Service (CSOLS)
  • Ministry of Railways (Railway Board)
  • M/O Shipping
  • Armed Forces Headquarters (AFHQ)
  • M/O External Affairs (MEA)
  • M/O Housing and Urban Affairs
  • Directorate of Enforcement (D/O Revenue)
  • Central Hindi Training Institute (CHTI)
  • M/O Power
  • M/O Mines
  • Indian Foreign Service
  • Ministry of Parliamentary Affairs
  • Directorate of Forensic Science
  • President’s Secretariat
  • Central Secretariat
  • Department of Posts (DOP)
  • M/O Environment & Forests and Climate Change
  • Central Water Commission (CWC)
  • Central Water Power Research Station (CWPRS)
  • Directorate General Border Roads Organisation (BRO)
  • Military Engineer Services (MES)
  • Central Public Works Department (CPWD)
  • Directorate General Quality Assurance (DGQA)
  • Directorate of Quality Assurance (Naval)
  • National Technical Research Organisation (NTRO)
  • Election Commission
  • Central Information Commission (CIC)
  • Ministry of Parliamentary Affairs
  • Central Administrative Tribunal
  • Department of Telecommunications
  • Border Security Force (BSF)
  • Sashastra Seema Bal (SSB)
  • Central Reserve Police Force (CRPF)
  • Central Industrial Security Force (CISF)
  • Special Security Force (SSF)
  • Indo Tibetan Border Police (ITBP)
  • Assam Rifles (AR)

SSC द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित परीक्षाएं, स्पष्ट रूप से विभिन्न सरकारी विभागों और उनके रिक्त पदों को भरने के लिए, केवल एक परीक्षा से काम नहीं चल सकता है।

कर्मचारी चयन आयोग उन सभी रिक्तियों को समय-समय पर भरने के लिए विभिन्न प्रकार की परीक्षाएँ आयोजित करता है।

ये निम्नलिखित परीक्षाएं हैं जो एसएससी (SSC) वर्ष में एक बार आयोजित करता है।

  • SSC MTS Exam
  • SSC CHSL Exam
  • SSC CGL Exam
  • SSC Stenographer Exam
  • SSC GD Constable Exam
  • SSC CPO Exam
  • SSC JE Exam
  • SSC JHT Exam

SSC, CGL संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा (SSC Combined Graduate Level Exam)

जैसे की नाम से पता लग रहा है यह एग्जाम वह छात्र दे सकते है। जिन्होंने अपनी स्नातक स्तर की पढ़ाई (Graduation) पूरी कर ली है। यह एग्जाम चार स्टेज में लिया जाता है।

इस परीक्षा को देने के लिए स्नातक (Graduate) होना आवश्यक है। इस परीक्षा में आवेदन करने के लिए आवेदक का स्नातक (Graduate) होना आवश्यक है।

आप स्नातक के बिना इस परीक्षा के लिए आवेदन नहीं कर सकते। इसमें विभिन्न सरकारी विभागों के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए स्नातक स्तर पर परीक्षा ली जाती है।

SSC CGL स्तर की परीक्षा राष्ट्रीय (National) स्तर पर होती है। इसमें कम से कम प्रत्येक छात्र की आयु 18 से 27 वर्ष तक होनी चाहिए।

Tier-1Computer-Based Examinations
Tier-2Computer-Based Examinations
Tier-3Pen and Paper Mode
Tier-4 Computer proficiency Test/ Skill Test

यह परीक्षा (Exam) Tier – 1,Tier – 2, Tier – 3 हर छात्र के लिए आवश्यक है। जबकि Tier – 4 उन छात्रों के लिए आवश्यक है। जिनकी पोस्ट में कंप्यूटर टाइपिंग (Computer Typing) की आवश्यकता होती है।

एसएससी सीजीएल टाइयर 1 परीक्षा पत्र (SSC CGL Tire – 1 Exam Pattern in Hindi)

विषय (Subject)प्रश्नों की संख्या (No. of Questions)कुल मार्क (Total Marks)आवंटित समय (Time Allotted)
General Intelligence and Reasoning255060 मिनट का समय (Time of 60 Minutes)
General Awareness255060 मिनट का समय (Time of 60 Minutes)
Quantitative Aptitude255060 मिनट का समय (Time of 60 Minutes)
English Comprehension255060 मिनट का समय (Time of 60 Minutes)
Total100200

एसएससी सीजीएल टाइयर 2 परीक्षा पत्र (SSC CGL Tier 2 Exam Pattern)

पेपर (Paper)विषय (Subject)प्रश्नों की संख्या (No. of Questions)कुल मार्क (Total Marks)आवंटित समय (Time Allotted)
Paper IQuantitative Ability1002002 घंटे (2 Hours)
Paper-IIEnglish Language and Comprehension2002002 घंटे (2 Hours)
Paper-IIIसांख्यिकी (Statistics)100200 2 घंटे (2 Hours)
Paper-IVGeneral Studies (Finance and Economics)1002002 घंटे (2 Hours)

एसएससी सीजीएल टियर 3 परीक्षा पत्र (SSC CGL Tier 3 Exam Pattern)

विषय (Subject)मार्क (Marks)समय (Time)परीक्षा मोड (Exam Mode)
अंग्रेजी / हिंदी में वर्णनात्मक पेपर (निबंध, प्रेसीस, पत्र, आवेदन, आदि का लेखन) (Descriptive Paper in English/Hindi – Writing of Essay, Precis, Letter, Application, etc)100 अंक (100 Marks)1 घंटा या 60 मिनट (1 Hour or 60 Minutes)कलम और कागज़ (Pen and Paper)

एसएससी सीजीएल टियर 4 परीक्षा पत्र (SSC CGL Tier 4 Exam Pattern)

कौशल परीक्षा (Skill Test)मार्क (Marks)समय (Time)पदों के लिए (For the Posts)
डाटा एंट्री स्पीड टेस्ट (Data Entry Speed Test)प्रकृति में योग्यता (Qualifying in Nature)15 मिनट (15 Minutes)कर सहायक (Tax Assistant) (CBDT and CBEC)
कंप्यूटर प्रवीणता परीक्षा (Computer Proficiency Test -Word Processing/Excel Sheet/PowerPoint)प्रकृति में योग्यता (Qualifying in Nature)45 मिनटों (45 Minutes)CSS, MEA, SFIO, GSI में सहायक अनुभाग अधिकारी (Assistant Section Officer in CSS, MEA, SFIO, GSI)

स्टाफ सिलेक्शन कमीशन क्या है? (Staff Selection Commission ki Salary ki Jankari)

स्टाफ सिलेक्शन कमीशन को SSC या कर्मचारी चयन आयोग के रूप में भी जाना जाता है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आईबीपीएस (IBPS) समय-समय पर सभी बैंकों में कर्मचारियों की भर्ती के लिए अलग-अलग परीक्षा आयोजित करता है।

उसी तरह, यदि आप केंद्र सरकार में सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं, तो वे कर्मचारी चयन आयोग परीक्षा और अन्य चयन प्रक्रियाओं के माध्यम से ही यह प्राप्त कर सकते हैं।

कर्मचारी चयन आयोग में कुछ समूह बनाए जाते हैं जिसके माध्यम से केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों का चयन करती है। यह 1977 में शुरू हुआ, जो आज भी जारी है।

इसमें अलग-अलग पद और अलग-अलग परीक्षाएं हैं और आपकी योग्यता के अनुसार आपको एक पद के लिए चुना जाता है।

कर्मचारी चयन आयोग का मुख्य कार्यालय नई दिल्ली में है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय 7 विभिन्न शहरों जैसे मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर आदि में है।

यदि आप अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता के लिए केंद्र सरकार में काम करना चाहते हैं, तो यह आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के निम्न पद इस प्रकार है।

कर्मचारी चयन आयोग में कई पद और नौकरियां हैं। जिसमें कुछ योग्यताएं निश्चित होती है।

इनमें से आप अपनी क्षमता के अनुसार किसी भी पद का फॉर्म भरें और फिर परीक्षा देकर आगे की प्रक्रिया पूरी करें।

आपको जल्द ही परिणाम मिल जाएगा। कर्मचारी चयन आयोग के विभिन्न पद इस प्रकार हैं।

सेंटर आर्म्ड पुलिस फोर्स (CAPF)

CAPF का पूरा नाम Central Armed Police Forces (सेंटर आर्म्ड पुलिस फोर्स) है। यह ऐसा पेटर्न होता है जो पुलिस कर्मचारी हेतु चुना जाता है।

इसके नाम से ही ये साफ़ पता चल रहा है की केंद्र सरकार में सशस्त्र पुलिस बल में इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर (Inspector, Sub Inspector) के लिए यह परीक्षा करवाई जाती है।

कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल (CGL)

CGL को कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल एग्जाम कहा जाता है। CGL का फुल फॉर्म Combined Graduate Level होता है।

इसमें आप जिन पदों पर कार्य कर सकते है। वो है आयकर अधिकारी (Income Tax Officer), खाद्य अधिकारी (Food Officer) आदि।

इस परीक्षा को केवल वो ही व्यक्ति दे सकता है। जिसने अपनी ग्रेजुएशन को पूरा कर लिया हो।

कंबाइंड हायर सेकंडरी लेवल (CHSL)

CHSL का मतलब कंबाइंड हायर सेकंडरी लेवल होता है। CHSL का फुल फॉर्म Combined Higher Secondary Level होता है।

इस एग्जाम को देने के लिए 12th पास होना जरुरी है। 12th पास छात्र ही इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है।

अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते है तो LDC (Lower Division Clerk) और DEO (Data Entry Operator) जैसी पोस्ट पर चयनित होते हैं।

Combined Higher Secondary Level Exam Pattern

SubjectNo of QuestionsMaximum MarksExam Duration
General Intelligence and Reasoning255060 Minutes
Quantitative Aptitude255060 Minutes
General Awareness255060 Minutes
English Comprehension255060 Minutes
Total100200

जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर (JHT)

JHT का फुल फॉर्म Junior Hindi Translator होता है। जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर (JHT) के लिए आपको हिंदी और इंग्लिश दोनों ही भाषाओं का पूरा ज्ञान होना चाहिए। तभी आप एग्जाम पास कर सकते है। तभी आप इस पोस्ट की नौकरी को आसानी से हासिल कर सकते है।

Junior Hindi Translator Exam Pattern

PartSubjectNumber of Questions/MarksTotal Duration /Timing for General CandidatesTotal Duration/ Timing for Visually
Handicapped Candidates
Paper- I (Objective Type)(i)General Hindi
(ii) General English
100/100 mark
100/100 mark
2 Hours2 Hours 40 Mins
Paper-II (Conventional Type)Translation & Essay2002 Hours2 Hours 40 Mins

जूनियर इंजिनियर (JE)

यह पोस्ट जूनियर इंजीनियर (JE) के लिए होती है। JE का फुल फॉर्म ‘Junior Engineer‘ होता है। इसमें इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होना अनिवार्य है। फिर एग्जाम देना होगा।

Junior Engineer Exam Pattern

PaperSubjectMaximum MarksTime Duration
Paper – IGeneral Awareness502 Hours
Paper – IGeneral Intelligence and Reasoning502 Hours
Paper – IPart A- General Engineering (civil & structural)
Part B- General Engineering (electrical)
Part C- General Engineering (mechanical)
1002 Hours
Paper-IIPart A- General Eng. (Civil & Structural)
Part B- General Eng. (Electrical)
Part C- General Eng. (Mechanical)
3002 Hours

SSC की तैयारी कैसे करें?

SSC की तैयारी कैसे करें? (SSC ki Taiyari Kaise Karen)
SSC की तैयारी कैसे करें? (SSC ki Taiyari Kaise Karen)

सबसे पहले, आपको यह तय करना होगा कि आप एसएससी (SSC) के किस Exam के लिए तैयारी करना चाहते हैं। तभी आप अपनी आगे की रणनीति (Strategy) बना सकते हैं।

अधिकतर छात्रों के मन में एक सवाल होता है। “एसएससी (SSC) परीक्षा को पास करने के लिए उन्हें कितने घंटे पढ़ना चाहिए?” अगर देखा जाये तो यह सवाल बिल्कुल सही है।

क्योकिं इसका जवाब हर छात्र अलग-अलग तरह का उत्तर देगा। सबका पढने का तरीका अलग-अलग होता है। ऐसे कई छात्र होते है। जो आधे घंटे में ही किसी भी विषय को पढ़ कर समझ सकते है।

लेकिन ऐसे कई छात्र भी होते है। जिन्हें समझने में कुछ दिन लग जाते है। इसलिए इसका सटीक उत्तर देना मुश्किल है।

अपने पढ़ने के लिए कुछ नियम बनाये। जो आपको एसएससी का एग्जाम निकलवाने में मदद करेगा। वह निम्नलिखित है।

एग्जाम पैटर्न को अच्छे से समझना (Understanding Exam Pattern)

एग्जाम पैटर्न को अच्छे से समझना (Understanding Exam Pattern)
एग्जाम पैटर्न को अच्छे से समझना (Understanding Exam Pattern in Hindi)

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए, उसके पैटर्न को अच्छी तरह से समझना बहुत आवश्यक होता है। पैटर्न को समझने से एसएससी एग्जाम की तयारी करने में मदद मिल सकती है।

आपको बता दें कि एसएससी परीक्षा में एक ऑब्जेक्टिव टाइप लिखित परीक्षा होती है। इसमें रीजनिंग जनरल इंटेलिजेंस, इंग्लिश लैंग्वेज और जनरल अवेयरनेस से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

इसके साथ ही, लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, एक कौशल परीक्षा होती है और यह हर पोस्ट के लिए भिन्न होती है।

जैसे LDC के लिए टाइपिंग टेस्ट (Lower Division Clerk) और डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए कंप्यूटर टेस्ट होता है।

सिलेबस को जानना (Know Syllabus)

सिलेबस को जानना (Know Syllabus)
सिलेबस को जानना (Know Syllabus in Hindi)

प्रत्येक परीक्षा का पैटर्न और पूछे जाने वाले प्रश्न अलग-अलग होते हैं। इसलिए, किसी भी परीक्षा की तैयारी से पहले, अपने पाठ्यक्रम बहुत अच्छी तरह से समझ लें।

पाठ्यक्रम (Syllabus) में आने वाले विषयों को ध्यान से पढ़ें और समझें और उसी के अनुसार परीक्षा की तैयारी शुरू करें।

आपको बता दें कि इस परीक्षा से संबंधित कोई भी पुस्तक खरीदते समय आपको उसे पाठ्यक्रम (Syllabus) से देखना और मिलना चाहिए।

उसके बाद ही उसे खरीदना चाहिए। ताकि आपका कोई भी टॉपिक छूटे नहीं और आप आसानी से इस परीक्षा को पास कर सकें।

रणनीति बनायें (Make Strategy)

रणनीति बनायें (Make Strategy)
रणनीति बनायें (Make Strategy in Hindi)

SSC परीक्षा हमारे स्कूल और कॉलेज की परीक्षा से बहुत अलग होता है। इस वजह से, आपको इसकी तैयारी के लिए एक नई रणनीति बनाने की आवश्यकता है।

यह परीक्षा अंग्रेजी और सामान्य जागरूकता की तुलना में जनरल इंटेलिजेंस और न्यूमेरिकल एप्टीट्यूड में अधिक समय लेती है।

इस वजह से, आप अपना समय ठीक से समायोजित करते हैं ताकि आप दिए गए समय में सभी प्रकार के प्रश्नों का सही उत्तर दे सकें।

कौशल परीक्षा (Skill Test)

कौशल परीक्षा (Skill Test)
कौशल परीक्षा (Skill Test in Hindi)

परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, आपको कौशल परीक्षा के लिए भी तैयार रहना चाहिए।

इस परीक्षा के होने के बाद ज्यादा से ज्यादा समय अपनी स्किलस (Skills) को बढ़ाने में लगाएं। जिससे आपकी मेहनत बेकार न जाये।

टाइम मैनेजमेंट (Time Management)

टाइम मैनेजमेंट (Time Management in Hindi)
टाइम मैनेजमेंट (Time Management in Hindi)

किसी भी परीक्षा के लिए समय प्रबंधन (Time Management) सबसे महत्वपूर्ण है। क्योंकि वस्तुनिष्ठ (Objective) प्रश्नों को हल करने के लिए भी, आपको समय का उचित प्रबंधन (Time Management) करना चाहिए। जिससे आप समय पर पेपर हो हल कर पाए।

करेंट अफेयर्स (Current Affairs)

करेंट अफेयर्स (Current Affairs in Hindi)
करेंट अफेयर्स (Current Affairs in Hindi)

एसएससी परीक्षा में करेंट अफेयर्स से संबंधित प्रश्न बहुत महत्वपूर्ण हैं। लेकिन यह देखा गया है कि छात्र परीक्षा से कुछ दिन पहले परीक्षा पर ध्यान देते हैं। यही वजह है की वह करेंट अफेयर्स में कमजोर रह जाते है। जिसकी वजह से वह एग्जाम पास नहीं कर पाते है। आपको नेवसपपेर हर रोज पढ़ना चाहिए।

SSC के प्रश्न उत्तर

प्रश्न- SSC एग्जाम के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

उत्तर- 10वीं/12वीं करने के बाद आप एग्जाम दे सकते है।

प्रश्न- SSC के लिए आयु सीमा क्या है?

उत्तर- 18 साल से लेकर 32 साल तक होनी चाहिए।

प्रश्न- SSC के अध्यक्ष कौन है?

उत्तर- IAS अधिकारी बृजराज शर्मा SSC के अध्यक्ष है।

प्रश्न- एसएससी की सैलरी कितनी होती है?

उत्तर- हर पोस्ट के अनुसार सैलरी अलग-अलग तरह का होता है।

इन्हें भी देखें –

निष्कर्ष (Conclusion)

एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी परीक्षा की तैयारी कुछ दिनों में नहीं की जा सकती है। किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए हमें उसे पर्याप्त समय देना होगा और नियमित रूप से तैयारी भी करनी होगी।

मैं आशा करती हूं की “SSC क्या है? (SSC Kya Hai)” पर यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा। अगर आपको “SSC क्या है? (SSC Kya Hai)” पर पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों और सोसल मीडिया पर शेयर जरुर करे।

अगर आपको “SSC क्या है? (SSC Kya Hai)” को समझने में कोई भी समस्या हो रही है तो आप अपने सवालों को कमेंट करें। हमारी टीम आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देगी।

Karuna Tiwari is an Indian journalist, author, and entrepreneur. She regularly writes useful content on this blog. If you like her articles then you can share this blog on social media with your friends. If you see something that doesn't look right, contact us!

Leave a Comment

error: DMCA Protected !!
0 Shares
Share
Tweet
Pin
Share