प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इस योजना का उद्घाटन करते हुए कहा कि पूरे देश में “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (PM Kisan Maan Dhan Yojana)” पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो गई है। मैं अधिक से अधिक किसानों से इस योजना से जुड़ने का अनुरोध करता हूं। उन्होंने कहा कि यह योजना जम्मू-कश्मीर और लद्दाख सहित पूरे देश में लागू की जाएगी।

तोमर ने कहा कि कड़ी मेहनत करने के बावजूद किसान पर्याप्त कमाई नहीं करता है। इसलिए सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है। हमने बेहतर आय सुनिश्चित करने के लिए कई उपाय किए हैं और “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (PM Kisan Maan Dhan Yojana)” इस दिशा में एक और प्रयास है। कृषि मंत्री ने आगे कहा कि सरकार पांच वर्षों में किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राज्यों के साथ लगातार संपर्क में है और सभी प्रमुख योजनाओं को किसानों तक पहुंचाने के प्रयास कर रही है।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)

Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai

मंत्री ने कहा कि मोदी 2.0 सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री ने प्रत्येक मंत्रालय को पहले 100 दिनों में प्रमुख कार्यक्रमों को लागू करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि जिन किसानों के पास दो हेक्टेयर तक की कृषि भूमि है। वह सभी किसान “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है?” इस योजना के लिए पात्र होंगे। उन्होंने कहा कि 18 से 40 वर्ष के बीच के किसानों के लिए यह एक स्वैच्छिक (Voluntary) और योगदान (Contribution) आधारित पेंशन योजना है। यह योजना “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है?” छोटे किसानों के लिए डिज़ाइन की गई है और इसलिए इसमें जमीन की सीमा है।

हम सब जानते है की भारत एक कृषि प्रधान देश है। भारत की ज्यादातर जनता कृषि पर निर्भर करती है। कृषि को बढ़ावा देने के लिए और किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मोदी सरकार ने बहुत बड़ा फैसला लेते हुए किसानों का पेंशन (Pradhan Mantri kisan Pension Yojana) देने का एलान किया है। तो अब भारत के किसानों को मोदी सरकार की तरफ से हर महीने पेंशन दी जाएगी।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना कब शुरू हुआ? (PM Kisan Mandhan Yojana Kab Shuru Hua)

इस योजना की लॉन्चिंग से पहले ही बड़ी संख्या में किसानों को जोड़ने का लक्ष्य किया गया था। झारखंड में इसके लिए लगभग 10 हजार कॉमन सेंटर शुरू किए गए हैं। इस योजना को 5 करोड़ किसानों तक पहुंचाने का लक्ष्य है। तीन साल में पांच करोड़ लघु और सीमांत किसानों को जोड़ा जाना है। पीएम नरेंद्र मोदी 12 सितंबर 2019 को झारखंड के राजधानी रांची से “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना” लॉन्च कर चुके हैं। इस योजना के तहत 60 की उम्र के बाद किसानों को मामूली योगदान (Contribution) पर 3 हजार रुपये मंथली पेंशन मिलेगा। यह 9 अगस्त से रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ था। केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुताबिक इसमें अब तक करीब 8.36 लाख किसानों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना की विशेषताएं (Features of Kisan Mandhan Yojana in Hindi)

  • उद्देश्य (Purpose) – केंद्र सरकार ऐसे छोटे और सीमांत गरीब किसानों को पेंशन प्रदान करने जा रही है। जो लंबे समय से कृषि कार्य कर रहे हैं ताकि उनका भविष्य सुरक्षित हो सके।
  • पेंशन लाभ (Pension Benefits) – इस योजना के तहत, किसानों को उनके 60 साल पूरे होने के बाद यानी बुढ़ापे तक पहुंचने के बाद जो राशि दी जाएगी। वह मासिक आधार पर 3,000 रुपये होगी।
  • पैसों का भुगतान (Payment of Money) – जिन्हें पेंशन राशि प्रदान की जाएगी, उनके बैंक खाते में डायरेक्ट ट्रान्सफर मोड के माध्यम से दी जाएगी।
  • किसानों का योगदान (Contribution of Farmers) – पेंशन फंड में योगदान करने के लिए आवश्यक राशि किसानों की आयु के अनुसार अलग-अलग होगी। यदि किसान इस योजना में निर्धारित न्यूनतम आयु में आवेदन करता है, तो उसे हर महीने 55 रुपये जमा करने होंगे। दूसरी ओर, यदि कोई व्यक्ति निर्धारित आयु से 40 वर्ष अधिक आवेदन करता है, तो उसे हर महीने 200 रुपये तक का योगदान करना होगा। योजना के तहत, प्रीमियम का 50 प्रतिशत केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा, जो जीवन सुरक्षा बीमा (LIC) द्वारा भरा जाएगा।
  • खाते को सक्रिय रखने के लिए – इस योजना में शामिल होने के बाद, किसानों को इसे सक्रिय रखने के लिए कम से कम 5 वर्षों तक योगदान देना होगा। इसके बाद, यदि वे इसमें योगदान देना बंद करना चाहते हैं और जो पैसा उन्होंने अभी तक जमा किया है। उसे प्राप्त करना चाहते हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं।
  • पेंशनभोगी की मृत्यु हो जाने के बाद – यदि किसी कारण से पेंशनभोगी की मृत्यु हो जाती है। तो नामांकित व्यक्ति ऐसी स्थिति में राशि निकाल सकता है।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का उद्देश्य (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana ka Uddeshya)

  • इस योजना का मुख्य द्देश्य है की जब लोग वृद्धावस्था में पहुचते है। तब उनको आर्थिक सहायता की जरूरत होती है। यह योजना के तहत आर्थिक सहायता देना है। ताकि वे स्वस्थ और खुशहाल जीवन जी सकें।
  • देश में छोटे और सीमांत कृषि भूमि वाले किसानों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री किसान योजना शुरू की गयी है।
  • इस योजना के तहत सभी लघु और सीमांत किसानों को 3000 रुपये की एक निश्चित पेंशन दी जाएगी। यह एक स्वैच्छिक और अंशदान (Contribution) पर आधारित एक पेंशन योजना है।
  • यह पेंशन भारतीय जीवन सुरक्षा बीमा (LIC) द्वारा पेंशन फंड से किसानों को पेंशन प्रदान की जाएगी।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का लाभ लेने के लिए योग्यता (PMKMY Eligibility Criteria)

  1. भारतीय नागरिक (Indian Citizens)- इस योजना के तहत पेंशन राशि प्राप्त करने के लिए आवेदक (Applicant) को भारत का नागरिक होना चाहिए।
  2. छोटे एवं सीमांत किसान (Small and Marginal Farmers)- ऐसे किसान जो छोटे एवं सीमांत किसानों की श्रेणी में आते हैं। सिर्फ वही किसान इस पेंशन      (Pension) योजना का हिस्सा बन सकते है। जिस किसान के पास अधिक मात्रा में जमीन है। वह इस योजना के लिए पात्र नहीं है।
  3. गरीबी रेखा से नीचे आने वाले किसान (Below Poverty Line Farmers)- ऐसे किसान जो गरीबी रेखा से नीचे आते है। वही इस योजना में आवेदन कर सकते है।
  4. आयु का निर्धारण (Age Determination)- इस योजना के ड्राफ्ट में यह उल्लेख है कि ऐसे कृषि श्रमिक (Agricultural Labor) जो इस पेंशन (Pension) योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। उन्हें 18 से 40 वर्ष की आयु के बीच में इस योजना में रजिस्ट्रेशन (Registration) करा लेना होगा। अन्यथा वह इस योजना में शामिल होने के लिए पात्र नहीं माना जायेगा।
  5. अधिकतम जमीन (Maximum Ground)- इस योजना के लाभार्थी किसानों के पास 2 हेक्टेयर से अधिक यानी 5 एकड़ जमीन नहीं होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री मानधन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज (Required Documents for Kisan Mandhan Yojana in Hindi)

  • स्थानीय प्रमाण पत्र (Local Certificate) – यह योजना भारत के निवासियों (Residents) के लिए कानूनी रूप से शुरू की गई है। इसलिए उन्हें अपनी राज्य सरकार द्वारा जारी स्थानीय प्रमाण पत्र (Local Certificate) की आवश्यकता हो सकती है।
  • बीपीएल प्रमाण पत्र (BPL Certificate) – इस योजना में पेंशन प्राप्त करने वाले किसानों को बीपीएल प्रमाणपत्र (BPL Certificate) की भी आवश्यकता होगी।
  • आयु प्रमाण पत्र (Age Certificate) – आयु की योग्यता को पूरा करने के लिए आवेदकों (Applicants) को अपनी आयु का प्रमाण देना होगा, जो उनकी वर्तमान आयु को दर्शता है।
  • किसान रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र (Registration Certificate of Farmers) – किसानों को अपने आधिकारिक कृषि पंजीकरण प्रमाण पत्र (Agricultural Registration Certificate) की आवश्यकता होगी।
  • आधार कार्ड (Aadhaar Card) – जब आप इस योजना में शामिल होने के लिए आवेदन (Application) करने जाते हैं, तो आपका मुख्य दस्तावेज (Document) आधार कार्ड हो सकता है, जो आपकी पहचान के लिए होगा।
  • जमीन के पेपर (Ground Paper) – आवेदकों को अपनी जमीन की जानकारी देने के लिए पंजीकरण (Registration) के दौरान अपने जमीन के कागजात दिखाने होंगे।
  • बैंक खाते की जानकारी (Bank account Information) – इस योजना में धन का लेन-देन नकद में नहीं होता है। जो भी लेन-देन किया जाएगा। वह बैंक के माध्यम से किया जाएगा और यह पारदर्शिता (Transparency) और प्रभावशीलता (Effectiveness) प्रदान करना है। इसलिए आवेदकों को अपने बैंक खाते का होना जानकारी है।
प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का फॉर्म कैसे भरें? (Kisan Mandhan Yojana ka Form Kaise Bhare)
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए किसान अपने सभी दस्तावेजों (Documents) के साथ अपने क्षेत्र के कॉमन सर्विस सेंटर (Common Service Centre) में जायें।
  • वहां जा कर उन्हें कॉमन सर्विस सेंटर (Common Service Centre) अधिकारियों से संपर्क करना होगा। उन्हें यह बताना होगा कि आप प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के लिए पंजीकरण (Registration) करना चाहते हैं।
  • उसके बाद वे अधिकारी आपसे आपका दस्तावेज (Documents) ले लेंगे और पुष्टि करेंगे कि क्या वह इस योजना के तहत पंजीकरण करने के योग्य की नहीं है।
  • एक बार यह पुष्टि हो जाने के बाद, फिर वे अधिकारी इस योजना केडिजिटल आवेदन फॉर्म (Digital Application Form) को खोल कर सारे दस्तावेज की जानकारी भर देंगे और फॉर्म जमा कर देंगे और इस तरह इस योजना का पंजीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • आपको बता दें कि इस योजना के पंजीकरण के लिए आवेदकों से कोई आवेदन शुल्क नहीं लिया जाएगा। लेकिन कॉमन सर्विस सेंटर (Common Service Centre) केंद्र से प्राप्त इस सेवा के लिए उन्हें 30 रुपये का मामूली शुल्क देना पड़ सकता है।
  • आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद लाभार्थी (Beneficiary) को पेंशन कार्ड दिया जाएगा। जिसमें एक यूनिक पेंशन आईडी नंबर लिखा जाएगा।
प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का टोल फ्री नंबर (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana ka Toll Free Number)

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का पैसा करोड़ों किसानों को सीधे उनके बैंक खाते में भेजा जा रहा है। केंद्र सरकार ने अब तक अपनी 2 किश्तें यानि 4000 रुपये प्रति किसान के हिसाब से जारी की हैं। यह पैसा करोड़ों किसानों के खाते में जा रहा है। कोई भी किसान इस मामले की कई तरह से जांच कर सकता है। लेकिन अब सरकार ने प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। इस प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना हेल्पलाइन नंबर पर कोई भी किसान सीधे फोन कर अपने पैसे के बारे में जानकारी ले सकता है।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के CEO विवेक अग्रवाल के अनुसार, केंद्र सरकार डायरेक्ट किसान के खाते में पैसा नहीं भेजती है। केंद्र सरकार राज्यों के खातों में पैसा भेजती है। फिर पैसा उस खाते से किसानों तक पहुंचता है। केंद्र सरकार सभी लाभार्थियों का पैसा भेज रही है। ऐसे में अगर किसानों के बैंक अकाउंट में पैसा नहीं आ रहा है तो आपको अपने रेवेन्यू अधिकारी (Revenue Officer) लेखपाल और कृषि अधिकारी (Agricultural officer) से संपर्क करना चाहिए। अगर वहां बात नहीं बन रही है तो सोमवार से शुक्रवार तक प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना हेल्प डेस्क (PM-KISAN Help Desk) के ई-मेल (Email) [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। वहां से न बात बने तो प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना हेल्प डेस्क सेल के फोन नंबर “011-23381092” (Direct HelpLine) पर फोन करें।

इन्हें भी पढ़े-

निष्कर्ष (Conclusion)

मोदी जी ने सत्ता में आने से पहले किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था। इस वादे को पूरा करने और किसानों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए मोदी जी ने कुछ योजनाएं भी शुरू की हैं। उन्हीं योजनाओं की सूची में से एक योजना है। ‘प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है’ जिसमें किसानों का भविष्य सुरक्षित, सक्षम एवं बेहतर बनेगा और इससे अधिक से अधिक किसान अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए कृषि में ध्यान देंगे। जिससे कृषि का विकास भी हो सकेगा। इस योजना से जुड़ने के लिए किसानों के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। इसके माध्यम से सरकार किसानों को क्या लाभ प्रदान कर रही है और इस योजना में शामिल कैसे हुआ जा सकता है। यह सब कुछ आपको हमारे इस लेख में मिल जायेगा।

मुझे उम्मीद है की “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)” पर यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा। अगर आपको “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)” पर पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ और सोसल मीडिया पर शेयर जरुर करे। अगर आपको “प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना क्या है? (Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana Kya Hai)” में को समझने में कोई भी समस्या हो रही है तो आप हमें कमेंट करें। हमारी टीम आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देगी।

error: DMCA PROTECTED !! We have saved your IP address and location !!