इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi) – जानिए हिंदी में।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media Kya Hai)

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)” भारत में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया या पत्रकारिता एक नए दौर से गुजर रही है। भारत में इलेक्ट्रोनिक मीडिया पिछले 15-20 वर्षों में घर घर में पहुँच गया है। शहर हो या ग्रामीण क्षेत्र हर जगह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने अपना अस्तित्व बना लिया है। यहाँ तक कि झुग्गी-झोंपड़ियों में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की पहुंच ने टी.वी. पत्रकारिता और टी.वी. पत्रकारों से समाज की उम्मीदें बढ़ा दी हैं।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इन हिंदी (Electronic Media in Hindi)” इन शहरों और कस्बों में केबल टीवी से सैकड़ो चैनल दिखाए जाते हैं। एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार भारत के कम से कम 80 प्रतिशत परिवारों के पास अपने टेलीविजन सेट हैं और मेट्रो शहरों में रहने वाले दो तिहाई लोगों ने अपने घरों में केबल कनेक्शन लगा रखे हैं। इसके साथ ही शहर से दूर-दराज के क्षेत्रों में भी लगातार डीटीएच-डायरेक्ट टु होम सर्विस का विस्तार हो रहा है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)
Electronic Media in Hindi

“इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (What is Electronic Media in Hindi)” प्रारंभ में गीत, संगीत, और नृत्य से संबंधित प्रतिभाओं को फिल्म क्षेत्रों में प्रदर्शित करने का माध्यम लंबे समय तक बना रहा। ऐसा लगता था कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया केवल फिल्म कला क्षेत्रों से संबंधित प्रतिभा दिखाने के मंच तक ही सीमित था।

‘इलेक्ट्रॉनिक मीडिया किसे कहते हैं?’ कुछ अपवादों के साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की यह नई भूमिका अत्यधिक प्रशंसनीय और सराहनीय है। जो देश की प्रतिभाओं को प्रसिद्धि पाने और कला एवं हुनर के प्रदर्शन हेतु उचित मंच और अवसर प्रदान करने का कार्य कर रही है।

आपके मन में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से संबंधित कई सारे प्रश्न होंगे जैसे “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)”, “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अर्थ (Meaning of Electronic Media in Hindi)”, “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की परिभाषा (Electronic Media Definition in Hindi)”, “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रकार (Types of Electronic Media in Hindi)”, “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की विशेषताएं (Characteristics of Electronic Media in Hindi)” आदि। तो आज की इस पोस्ट में, मैं इन सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करूंगी।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अर्थ (Meaning of Electronic Media in Hindi)

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अर्थ विद्युत माध्यम या विद्युत संचार माध्यम होता है। इलेक्ट्रॉनिक साधनों के माध्यम से जो जनसंचार होता है। वह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया है। इस माध्यम के द्वारा हम सुन सकते है, देख सकते है। यह अवसर सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ही हमें प्रदान कर किया है। विशेष रूप से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एक ऐसी विद्या है।

जिसके माध्यम से व्यक्ति को देश और विदेश की खबरों के अलावा अन्य जानकारी मिलती है। जनसंचार माध्यमों का प्रमुख माध्यम एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया भी है।रेडियो, सिनेमा, इंटरनेट, टेलीविजन और मल्टीमीडिया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के घटक हैं। नई पत्रकारिता में, समाचार प्रसारित करना अब एक मात्र उद्देश्य नहीं रह गया है। बल्कि मनोरंजन, विचार-विश्लेषण, समीक्षा, साक्षात्कार, घटना-विश्लेषण, विज्ञापन है। मीडिया समाज का आईना है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की परिभाषा (Electronic Media Definition in Hindi)

  1. शिक्षाविद: डॉ. प्रेमचंद पतंजलि के अनुसार- इलेक्ट्रॉनिक साधनों के माध्यम से जो जनसंचार होता है। वह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया है।
  2. रेडियो प्रोड्यूसर डॉ0 हरिसिंह पाल के अनुसार- श्रव्य और दृश्य विधा के माध्यम से सूचना देने वाला माध्यम इलेक्ट्रॉनिक मीडिया है।
  3. वरिष्ठ पत्रकार मोहनदास नैमिशराय के अनुसार- विशेष रूप से, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया उस माध्यम को संदर्भित करता है। जिसके माध्यम से एक व्यक्ति नई तकनीक के माध्यम से देश और विदेश की खबरों के अलावा अन्य जानकारी प्राप्त करता है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रकार (Types of Electronic Media in Hindi)

  1. टेलीविजन मीडिया- टेलीविजन जनसंचार का सबसे लोकप्रिय और ताकतवर माध्यम है। क्योंकि यह आम आदमी से लेकर खास आदमी तक का जरूरत बन गया है। हर घर में टेलीविजन उपलब्ध है। बच्चा-बच्चा इसके हर चैनल्स को पहचानता है।
  2. रेडियो मीडिया- ध्वनि का संचारक रेडियो है। जनसंचार का लोकप्रिय माध्यमों में से एक रेडियो भी है। आज के समय में भी लोग रेडियो सुनते है। विशेषकर तब जब लोग यात्रा पर निकलते है। लोग तब भी रेडियो सुनते है जब टी.वी. देखते का मान नहीं करता है।
  3. इंटरनेट मीडिया- इंटरनेट दुनिया का बहुत ही बड़ा नेटवर्क का जाल है। यह एक ग्लोबल कंप्यूटर नेटवर्क होता है जो की बहुत से प्रकार के जानकारी और संचार सुविधाएं (Communication Facilities) प्रदान करता है। इसी जाल को इंटरनेट की भाषा में मीडिया या फिर इंटरनेट मीडिया कहा जाता है। ये जाल एक तरह का तार (Wire) है। जिसमे जानकारी और डेटा (Data) दुनिया भर में घूमता रहता है।
  4. यूट्यूब मीडिया- यूट्यूब एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रकार का सबसे मुख्य प्रकार है। आप अपने मोबाईल से यूट्यूब कही पर कभी भी देख सकते है। इस पर समाचार, मनोरंजन, खेल, फिल्म आदि देख सकते है।
  5. वेब मीडिया- वेब मीडिया जिसे हम न्यूज मीडिया भी कहते हैं। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का सबसे उम्दा (Nice) विकल्प है। वेब मीडिया पर आप आपने पसंद का खबर, रेसिपी, मनोरंजन, सोसल साइट्स आदि की जानकरी ले सकते है।

यह भी पढ़ेविकास संचार क्या है? (What is Development Communication in Hindi)

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की विशेषताएं (Characteristics of Electronic Media in Hindi)

  1. श्रव्य माध्यम व दृश्य माध्यम- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में यानि टेलीविजन में आप कोई भी प्रोग्राम को सुन और देख सकते है। जैसे आप समाचार, फिल्म, नाटक, गीत-संगीत, साक्षात्कार चाहे किसी नेता हो, अभिनेता हो, अभिनेत्री हो, संगीतकार हो, बिजनेस मैन हो, राष्ट्रपति हो, प्रधानमंत्री हो, या किसी और देश के कोई भी राजनेता हो आदि। ये सभी का इंटरव्यू या साक्षात्कार को आप देख और सुन सकते है।
  2. सरल पहुंच- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अपने दर्शकों और श्रोताओं के साथ सरलता के साथ उनके दिल और दिमाग में अपना अलग स्थान बना लिया है। कोई भी खबर हो तुरंत अपने दर्शको के पास बड़ी हो सरल भाषा में खबर को पंहुचा देती है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कई बार खबर को तो ग्राफिक्स के साथ दर्शकों को समझाने का कोशिश करती है।
  3. सूचना प्रसारण गति- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेडियो के बाद एक ऐसा माध्यम है। जो अपने दर्शको का बखूबी ख्याल रखता है। जैसे आम जनता के लिए तो समजाचार बुलेटिन आती ही है। लेकिन गूंगे और बहरे लोगों के लिए एक इशारे से समाचार को बताने वाली एंकर भी आती है। आपने कभी ऐसा न्यूज़ नहीं देखा तो आप दूरदर्शन देख सकते है।
  4. अशिक्षितों का साधन- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अशिक्षितों का साधन बनते जा रहा है। दूरदर्शन पहले से ही शैक्षिक कार्यक्रम चलता है। आज के समय में आप देखते है तो टेलीविजन पर बच्चो के पढाई का पूरा पैक आ रहा है।
  5. एक तरफा संचार- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में आप सिर्फ समाचार और डिबेट देख और सुन सकते है। लेकिन उसमें आप अपना विचार नहीं जोड़ सकते है।

यह भी पढ़े- संचार क्या है? (What is Communication in Hindi) – जाने हिंदी में।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के कार्य (Electronic Media Functions in Hindi)

  • सूचनात्‍मक कार्य (Informational Work)- वर्तमान समय में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया या पत्रकारिता सूचना का सबसे महत्वपूर्ण साधन या स्रोत है। अपने जिज्ञासु स्वभाव के कारण मानव इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से अपेक्षा रखता है की वह देश-विदेश से जुडी तमाम और नविन खबर सत्य परख सूचनाओं का समय-समय पर प्रसारण करता रहता है। इस कार्य को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अपने स्थापना काल से ही आ रहा है।
  • जागरुकात्म्क कार्य (Awareness Work)- अपने कार्यक्रमों के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया समाज में जागरूकता पैदा करता है। टेलीविजन के इस प्रवृति के करण ही नारी प्रताड़ना, नारी शिक्षा, बलात्कार, यौन शोषण, बाल मजदूरी, सम्प्रदायवाद, सामाजिक बुराइयों के प्रति जागरूकता फैलाने का कार्य कर रहा है।
  • शिक्षात्मक कार्य (Educational Work)- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अपने कार्यक्रमों के माध्यम से शिक्षात्मक कार्य प्रमुखता से करता है। शिक्षात्मक कार्य का उद्देश्य मात्र पढ़ना-लिखना नहीं हैं। बल्कि समाज में उपलब्ध शिक्षा से मानव का बौधिक विकास होता है तथा जीवन में कलात्मकता आती है।
  • मनोरंजनात्मक कार्य (Recreational Work)- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का प्रमुख काम अपने दर्शकों को मनोरंजन में मानव जीवन की नीरसता को तोड़ने, चिंता व तनाव से धयान हटाने तथा ताजगी भरने की क्षमता होता है। यहीं कारण हैं कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर समाचार, गीत, संगीत, फिल्म, सीरियल, एनिमल पलानेट, कार्टून, नेशनल जियोग्राफिक, हिस्ट्री टीवी आदि।

यह भी पढ़ेजनसंपर्क क्या है? (What is Public Relations in Hindi) – पूरी जानकारी हिंदी में।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का प्रसारण-सिद्धांत (Theory of Electronic Media in Hindi)

  • ध्वनि (Sound)- ध्वनि ही दृश्य चित्र के निर्माण में सहायक होता है। घोड़े का चलने का आवाज, बन्दुक से गोली निकलने का आवाज, दरवाजा खुलने और बंद होने का आवाज, दरवाजे को जोर से पिओटने का आवाज, ट्रेन का हॉर्न बजने का आवाज आदि का आनंद केवल रेडियो पर ध्वनि द्वारा लिया जा सकता है।
  • चित्रात्मक (Pictorial)- टेलीविजन की वास्तविक प्रक्रिया ध्वनियों और चित्रों का एक साथ संचरण है। इसके प्रसारण में, चित्रों के साथ, ध्वनि के कलात्मक उपयोग पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
  • संगीत (Music)- संगीत मनोरंजन की एक ऐसी विधा है, जिसके माध्यम से केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि सांप, हिरण जैसे कई जानवरों को भी मोहित किया जाता है। संगीत से ही नाटकीयता उभरती है। रोचकता बढ़ती है।
  • कैमरा (Camera)- शूटिंग के समय, निर्माता को शूटिंग दृश्यों के अनुक्रम का निर्धारण करना होता है। दूरदर्शन और फिल्म लेखन में तीन (S) का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। यानी शॉट (Shot), सीन (Sean), सीक्वेंस (Sequence)। वही लेखक दूरदर्शन और सिनेमा में सफल हो सकता है जो अभिनय (Acting), गायन (Singing), फिल्मांकन (film)और संपादन (Editing) में उसको पूरा ज्ञान हो।
  • संक्षिप्तता (Summary)- इलेक्ट्रानिक मीडिया समय बद्ध प्रसारण है। इसलिए थोड़े में बहुत कुछ कह देना इलेक्ट्रानिक मीडिया की विशेषता है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Electronic Media in Hindi)

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के फायदे :

  • यह दर्शकों का आँखें खोलता है कि समाज में क्या हो रहा है।
  • दर्शकों को सही गलत का फर्क समझता है।
  • टेलीविजन शो युवा पीढ़ी को नैतिकता और मूल्यों के साथ-साथ सही गलत के बारे में सिखाता हैं।
  • शैक्षिक टेलीविजन केवल बच्चों के लिए ही नहीं है। यह हर उम्र के व्यक्ति के लिए होता है।
  • यह नेशनल जियोग्राफिक, पुरातत्व की जानकारी, अलग-अलग शहरों कि जानकारी आदि देता है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के नुकसान :

  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का बहुत अधिक उपयोग उपयोगकर्ताओं को खतरनाक विकिरण के लिए भी उजागर कर सकता है जो मानव शरीर के लिए हानिकारक है।
  • टेलीविजन का वॉल्यूम बहुत अधिक करने से ध्वनि प्रदूषण हो सकता है।
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का जयादा उपयोग से समय की बर्बादी होती है।
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पास बहुत अधिक समय व्यतीत करने से वजन की समस्या से जूझना पड़ता है।
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का बहुत अधिक उपयोग छात्र के लिए कुछ समय के लिए हानिकारक है।
  • छात्र का इससे उनका अधिक मूल्यवान समय खर्च होता है जो उन्हें अध्ययन के लिए खर्च करने के लिए लगता है।

इन्हें भी देखे –


निष्कर्ष (Conclusion)

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi) भारत में इलेक्ट्रोनिक मीडिया पिछले 15-20 वर्षों में घर घर तक पहुँच गया है। फिर चाहे वह शहर हो या ग्रामीण क्षेत्र। इन शहरों और कस्बों में केबिल टीवी से सैकड़ो चैनल दिखाए जाते हैं। एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार भारत के कम से कम 80 प्रतिशत परिवारों के पास अपने टेलीविजन सेट हैं और मेट्रो शहरों में रहने वाले दो तिहाई लोगों ने अपने घरों में केबल कनेक्शन लगा रखे हैं। इसके साथ ही शहर से दूर-दराज के क्षेत्रों में भी लगातार डीटीएच-डायरेक्ट टु होम सर्विस का विस्तार हो रहा है। इलेक्ट्रोनिक मीडिया के आने के बाद लोगो को समाचार पढने के लिए अगले सिबह का इन्तजार नहीं करना पड़ता है।

मैं आशा करती हूं की “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)” पर यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा। अगर आपको “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)” पर पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों और सोसल मीडिया पर शेयर जरुर करे। अगर आपको “इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? (Electronic Media in Hindi)” को समझने में कोई भी समस्या हो रही है तो आप अपने सवालों को कमेंट करें। हमारी टीम आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देगी।

Karuna Tiwari is an Indian journalist, author, and entrepreneur. She regularly writes useful content on this blog. If you like her articles then you can share this blog on social media with your friends. If you see something that doesn't look right, contact us!

Leave a Comment

error: DMCA Protected !!
1 Shares
Share1
Tweet
Pin
Share